ambala today news पढ़िए खबर: हरियाणा पुलिस कैथल को मिली बड़ी कामयाबी, तीन कुख्यात अपराधी काबू, किन-किन वारदातों को दिया अंजाम

चंडीगढ़ एसपी कैथल शशांक कुमार सावन के कुशल मार्गदर्शन अंतर्गत पुलिस द्वारा अपराधियों की धरपकड़ के लिए उच्च मनोबल के साथ चलाई जा रही मुहीम तहत सीआईए-1 पुलिस द्वारा उल्लेखनीय सफलता हासिल करते हुए 25 हजार रुपए के ईनामी अपराधी मोस्टवांटिड जैकी उर्फ जितेंद्र बीजना सहित 3 कुख्यात अपराधियों को काबु करके गिरफतार कर लिया गया। मर्डर करने की फिराग में एक बगैर नं. रिटिज गाडी में घूम रहे आरोपियों द्वारा जब पुलिस को देखकर गाड़ी भगाई तो पुलिस द्वारा करीब 3 किलोमीटर तक निरंतर पीछा किए जाने उपरांत आरोपियों द्वारा गाडी रोककर खेतों के रास्ते अलग-अलग दिशा में पैदल भागने का प्रयास किया गया, परंतु सीआईए-1 पुलिस द्वारा अदम्य साहस व बहादूरी का परिचय देकर तीनों बदमाश काबु कर लिए गये। जांच के दौरान आरोपियों के कब्जे से बड़े पैमाने पर नाजायज हथियार बरामद हुए, जिनमें 315 बोर व .32 बोर के 6 अवैध पिस्तौल व कुल 55 जिंदा कारतूस शामिल है। सभी आरोपियों के खिलाफ मर्डर, डकैती, हत्या का प्रयास, फिरौती मांगने व शस्त्र अधिनियम आदी शिर्षक के काफी मामले दर्ज है, जिनमें से गिरोह सरगना जैकी जानलेवा हमलों के दो मामलों में न्यायालय द्वारा उद्धघोषित अपराधी करार दिया जा चुका है। तीनों शातिर आरोपियों की गिरफतारी से पुलिस द्वारा हत्या की दो संभावित वारदातों को टालने में सफलता अर्जित की गई है। सभी तीनों आरोपी 3 सितंबर को अदालत में पेश कर दिए गये, जहां से चीका में व्यवसायी से फिरौती मांगने के मामले में व्यापक पूछताछ सहित उनके अन्य साथियों की गिरफतारी के लिए सभी आरोपियों का 7 सितंबर तक 4 दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया गया है।
कार्यालय एसपी कैथल में आयोजित प्रैसवार्ता के दौरान एसपी शशांक कुमार सावन ने विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि सीआईए-1 प्रभारी इंस्पेक्टर अनूप सिंह की अगुवाई में हेडकांस्टेबल मनीष, एचसी तरसेम कुमार, एचसी रणदीप सिंह, एचसी राजेश कुमार, ईएचसी देवेंद्र सिंह, सिपाही हरीश कुमार तथा कांस्टेबल संदीप की टीम सरकारी गाड़ी में सांयकालीन गश्त दौरान चक्कुलदाना मोड़ रामथली मौजूद थी। पुलिस को सहयोगी सुत्रों से ठोस एवं गुप्त जानकारी मिली कि कुछ आरोपी चीका क्षेत्र में मर्डर करने की फिराग अंतर्गत एक बगैर नं. रिटिज गाड़ी में काफी संख्या में हथियारों के जखीरे सहित घूम रहे है, जो अगौंध से रामथली साईड आने वाले है। पुलिस द्वारा चक्कुलदाना मोड़ रामथली पर नाकाबंदी की गई, जहां कुछ देर बाद अगौंध साईड से आई संदिगध रिटिज गाड़ी को रुकने का संकेत किया गया, तो चालक द्वारा एकदम कट मारते हुए तेज गति व लापरवाही से गाड़ी को चक्कुलदाना की तरफ भगा ले गए। सतर्क पुलिस द्वारा सरकारी गाड़ी द्वारा उक्त गाडी का करीब 3 किलोमीटर तक निरंतर पीछा करके रिटिज के सामने अपनी गाडी रोककर संदिगधों का रास्ता अवरुध किया गया, तो गाडी से 3 युवक उतरकर खेतों की तरफ अलग-अलग दिशा में भागे। सीआईए पुलिस कर्मचारियों द्वारा अदम्य साहस व बहादूरी का परिचय देकर तीनों को दबोच लिया गया। पूछताछ के दौरान उनकी पहचान जितेंद्र उर्फ जैकी निवासी गांव बीजना जिला करनाल, अनित उर्फ नितिन उर्फ नित्तर निवासी भाणा जिला कैथल तथा रामपाल उर्फ मोनु निवासी राहड़ा जिला करनाल के रुप में हुई। जांच के दौरान आरोपी जैकी के कब्जे से .32 बोर के 2 देशी पिस्तौल व 25 जिंदा कारतूस, अनित के कब्जे से 315 बोर के 2 देशी पिस्तौल व 4 जिंदा कारतूस तथा आरोपी रामपाल के कब्जे से एक 315 बोर व एक .32 बोर के दो पिस्तौल व 26 जिंदा कारतूसों सहित तीनों आरोपियों के कब्जे से कुल 6 अवैध पिस्तौल तथा 55 जिंदा कारतूस बरामद हुए। थाना गुहला में मामला दर्ज करके सभी आरोपियों को मौके पर पहुंचे सीआईए-1 के सबइंस्पेक्टर कश्मीर सिंंह द्वारा भादसं. की धारा 279,336 तथा शस्त्र अधिनियम अंतर्गत गिरफतार कर लिया गया।
एसपी कैथल शशांक कुमार सावन ने बताया कि आरोपी जितेंद्र उर्फ जैकी द्वारा पिछले वर्ष चीका में एक दुकान पर फायर करके धमकी देते हुए 50 लाख रुपए रंगदारी की मांग की गई थी। उसके साथी अमित उर्फ लट्टू निवासी रसीना को पुलिस द्वारा पहले ही गिरफतार किया जा चुका है, जबकि आरोपी जैकी की तलाश की जा रही थी। आरोपी जैकी द्वारा अपने उपरोक्त दोनों साथियों के साथ मिलकर चीका के व्यवसायी से दिनांक एक अगस्त तक उक्त व्यवसायी को फोन करके रंगदारी की मांग पूरी ना होने पर जान से मारने की धमकी दी गई थी। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि सीआईए-1 पुलिस द्वारा हत्या की एक संभावित वारदात को टालने में सफलता हासिल करते हुए तीनों शातिर आरोपियों को गिरफतार कर लिया गया। पूछताछ दौरान गिरोह के सरगना जितेंद्र जैकी ने कबुला कि वह अपने गांव बीजना में जमीन विवाद के चलते हुए एक अन्य व्यक्ति की हत्या को भी अंजाम देने वाला था। कुख्यात आरोपी जैकी पर लूट, हत्या व हत्या का प्रयास के करीब एक दर्जन संगीन मामले दर्ज है, जिनमें से आधा दर्जन मामलों में आरोपी अभी तक फरार चल रहा है, तथा कई मामलों में अदालत द्वारा बेलजंपर घोषित किया जा चुका है। आरोपी जितेंद्र उर्फ जैकी की गिरफतारी पर पुलिस प्रशासन द्वारा 25 हजार रुपए ईनाम घोषित किया हुआ था। आरोपी अनित व रामपाल द्वारा बाराबंकी उत्तरप्रदेश में डबल मर्डर करने की वारदात को अंजाम देना भी कबूल किया गया है। सभी तीनों आरोपी 3 सितंबर को अदालत में पेश कर दिए गये, जहां से चीका में व्यवसायी से फिरौती मांगने के मामले में व्यापक पूछताछ सहित उनके अन्य साथियों की गिरफतारी के लिए सभी आरोपियों का 7 सितंबर तक 4 दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया गया है। आरोपियों से सीआईए-1 पुलिस द्वारा गहनता पुर्वक व्यापक पूछताछ की जा रही है।

1

 

About Post Author

Leave a Comment

और पढ़ें