ambala today newsपढ़िए खबर राजकीय बहुतकनीकि संस्थान के इंद्रजीत सिंह ढींडसा को थापर विश्वविद्यालय पटियाला से पीएचडी की उपाधि मिली

अम्बाला । राजकीय बहुतकनीकी संस्थान अम्बाला शहर के इलेक्ट्रॉनिक्स एवम् कम्युनिकेशन विभाग के प्राध्यापक इंद्रजीत सिंह ढींडसा ने थापर विश्वविद्यालय पटियाला के इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग से पीएचडी की उपाधि प्राप्त की । इस प्रकार संस्थान के इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन विभाग में अब तक तीन प्राध्यापक डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त कर चुके हैं। जिनमें डॉ राजीव सपरा, डॉ अदीश बिंदल तथा डॉ इंद्रजीत सिंह ढींडसा शामिल हैं। जबकि इसी विभाग के एक अन्य प्राध्यापक संदीप गोयल भी अपना शोध ग्रंथ प्रस्तुत करने हेतु तत्पर हैं । ज्ञात हो कि संस्थान का इलेक्ट्रॉनिक्स एवम् कम्युनिकेशन विभाग पूरे हरियाणा के बहुतकनीकी संस्थानों के विभिन्न इंजिनियरिंग विभागों में से अकेला विभाग है जिसके सभी प्राध्यापक स्नातकोत्तर उपाधि से विभूषित हैं । ambala today news राजकीय बहुतकनीकि संस्थान के इंद्रजीत सिंह ढींडसा को थापर विश्वविद्यालय पटियाला से पीएचडी की उपाधि मिली

ambala today news पढ़िए खबर: हरियाणा की मुख्य सचिव  केशनी आनन्द अरोड़ा ने क्यों कहा कि कोविड-19 के कारण निकट भविष्य में उत्पन्न होने वाली किसी भी स्थिति से निपटने के लिए हमें तैयार रहना चाहिए

इंद्रजीत सिंह ढींडसा ने इस उपाधि हेतु डॉक्टर रवीन्द्र अग्रवाल के दिशा निर्देश में “मायो इलेक्ट्रिक कंट्रोल ऑफ एक्सोस्केलेटल नी” विषय पर अपना शोध ग्रंथ प्रस्तुत किया । इंद्रजीत सिंह ढींडसा ने बताया कि इस शोध में मानव के पैर के निचले हिस्से में उपस्थित इक्यावन से अधिक मांसपेशियों में से अठारह मांसपेशियों का अध्ययन कर तथा उनसे मिलने वाले सिग्नलों को समझ कर घुटने के विभिन्न कोणों को प्रेडिक्ट किया गया है । जिसका प्रयोग एक्सोस्केलेटल नी प्रोटोटाइप हेतु किया जा सकता है । यह प्रोटोटाइप घुटने की मांसपेशियों के कमजोर होने की स्थिति में घुटने को आवश्यकतानुसार मोड़ने में मददगार होगा । इंद्रजीत सिंह ढींडसा ने यह भी बताया कि इसका प्रयोग ऑस्टियोआर्थराइटिस के मरीजों हेतु अत्यधिक सहायक होगा और घुटने बदलवाने की प्रक्रिया यदि आवश्यक भी हो तो उसे इसके प्रयोग से कुछ अवधि तक टाला जा सकता है । संस्थान के प्रधानाचार्य श्री राजीव सपरा ने इंद्रजीत सिंह ढींडसा को इस उपलब्धि पर बघाई देते हुए कहा कि यह एक हर्ष और गौरव का विषय है कि हमारे प्राध्यापकों में सदैव बेहतरी की तरफ अग्रसर रहने का जज्बा है । यही कारण है कि वे एक अच्छे शिक्षक होने के साथ अच्छे मनुष्य भी हैं । उन्होंने इस उपलब्धि पर श्री इंद्रजीत सिंह ढींडसा को मोमेंटो प्रदान कर सम्मानित भी किया । इस अवसर पर श्री अदीश बिंदल, श्री अजय मालिक, श्री रवीन्द्र साईं, श्री रवीन्द्र पूनिया, श्री सुरेन्द्र मालिक इत्यादि उपस्थित थे ambala today news राजकीय बहुतकनीकि संस्थान के इंद्रजीत सिंह ढींडसा को थापर विश्वविद्यालय पटियाला से पीएचडी की उपाधि मिली

ambala today news पढ़िए खबर: अगर आपके बच्चों ने हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड भिवानी से मार्च 2020 में दी परीक्षा तो यहां से मिलेगे बच्चों के प्रमाण-पत्र, कम्पार्टमैन्ट व अनुत्तीर्ण कार्ड

About Post Author

Leave a Comment

और पढ़ें