लॉक़डाउन में कर्मचारियों की छंटनी, सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

3

(अंबाला कवरेज)  सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा की जिला कमेटी अम्बाला द्वारा लॉकडाउन की आड़ में कर्मचारियों की छंटनी करने के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। प्रदर्शन की अध्यक्षता जिला प्रधान कमलजीत बख्तूवा से संचालन जिला सचिव महावीर पाई ने किया। प्रदर्शन में पब्लिक हेल्थ, रोडवेज ,बिजली, पैक्स टूरिज्म,नगर पालिका, रिटायर कर्मचारी संघ,अध्यापक संघ, हेमसा आदि संगठनों ने भाग लिया राज्य महासचिव सतीश सेठी भी प्रदर्शन में मुख्य वक्ता के तौर पर शामिल हुए जिला प्रधान कमलजीत बख्तूवा वह सतीश सेठी ने बताया कि कोरोना महामारी की आड़ में सरकार लगातार कर्मचारियों की छटनी कर रही है जिसके विरोध स्वरूप आज उपायुक्त अंबाला के माध्यम से मुख्यमंत्री हरियाणा सरकार के नाम ज्ञापन सौंपा।

जाली जाति प्रमाण पत्र पर भर्ती होने पर दरखास्त देकर परेशान कर रहा था, भाई के साथ मिलकर की हत्या

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री द्वारा सार्वजनिक रूप से अपील की गई थी की लॉकडाउन के दौरान किसी भी कर्मचारी को नहीं हटाया जाएगा और ना ही उसका वेतन रोका जाएगा लेकिन हरियाणा सरकार ने प्रधानमंत्री की अपील को दरकिनार करते हुए सरकारी विभागों से हजारों कच्चे कर्मचारियों की छंटनी कर दी उन्होंने आगे बताया कि कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड ने मई 2000 में लगभग 60 सफाई कर्मचारियों को विभाग से बाहर कर दिया जिसके विरोध में सफाई कर्मचारियों द्वारा दिए गए धरने प्रदर्शन के बाद 20 मई 2020 को उपायुक्त कुरुक्षेत्र की ओर से एसडीएम की अध्यक्षता में हटाए गए कर्मचारियों को वापस लेने का आश्वासन दिया गया लेकिन इसके बाद प्रशासन  अपने किए गए वादे पर खरा नहीं उतरा केबीडी के अलावा पर्यटन विभाग,नगर निगम, नगर पालिका, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण, मीरपुर यूनिवर्सिटी रेवाड़ी, स्वास्थय विभाग से ठेका कर्मचारी पशुपालन विभाग हजारों कर्मचारियों की यही नहीं शिक्षा विभाग से 1983 पीटीआई की बर्खास्तगी के बाद कंप्यूटर टीचर लैब अटेंडेंट का भी अनुबंध खत्म कर दिया गया इससे भी आगे बढ़ते हुए पॉलिटेक्निक से कच्चे कर्मचारियों को जबरदस्ती छुट्टी पर भेजा जा रहा है।

 प्रदेश के पूर्व सैनिकों और अर्ध सैनिकों का डाटा ऑनलाइन तैयार करने के लिए बनाया जाएगा,सॉफ्टवेयर, सॉफ्टवेयर  से किस योजनाओं का मिलेगा लाभ 

सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा इस छंटनी को किसी भी सूरत में सहन नहीं करेगा और यदि सरकार द्वारा कर्मचारियों की सेवा को बहाल नहीं किया गया तो आने वाले समय में सरकार की कर्मचारी विरोधी नीति के खिलाफ आंदोलन छेड़ा जाएगा प्रदर्शन को महेश गोयल रविंद्र शर्मा सुरेंद्र राणा राजपाल वर्मा विनोद कुमार विनोद कुमार कुलदीप चौहान सतनाम सिंह रणदीप सिंह गुरु चरण परम सिंह आदि ने संबोधित किया।

About Post Author

Leave a Comment

और पढ़ें