बाहबलपुर में कबीर जयंती पर सत्संग का आयोजन, सोशल डिस्टेंस का रखा गया ध्यान

file photos

अंबाला (धर्मवीर सिंह)। अंबाला शहर के गांव बाहबलपुर के श्री गुरु ग्रंथ साहिब विद्या केंद्र में जेष्ठ पूर्णिमा के अवसर पर कबीर जयंती मनाई गई। केंद्र की संचालिका बीपी भूपेंद्र कौर ने संत कबीर बारे बताया कि कबीर दास ने हिंदू व मुस्लिम दोनों समाजों में फैले अंधविश्वासों का खंडन किया। वह हमेशा दोनों समाजों की एकता पर बल दिया केंद्र द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में कथावाचक हरप्रीत सिंह ने संत कबीर दास की महिमा गाकर मौजूदा सदस्यों वह केंद्र के बच्चों का मन ईश्वर में लगवाया। इस मौके पर राम नाम का कीर्तन किया गया केंद्र के सेवादार सरदार जगतार सिंह ने बताया कि 10 साल पहले ज्ञानी बाबा ठाकुर सिंह पटियाला वाले द्वारा इस केंद्र की स्थापना की गई थी केंद्र द्वारा सभी ब्रह्मज्ञानी संत महापुरुषों की जयंती पर राम नाम कीर्तन कर बच्चों वह सदस्यों को उनकी शिक्षाओं बारे अवगत करवाया जाता है। आज के इस समागम में सेवादार करनैल सिंह की पुत्री कुलवंत कौर ने क्रोना महामारी के चलते मौजूदा बच्चों में सदस्यों को नियमों बारे में अवगत करवाया इस मौके पर पूरन सिंह कश्मीर सिंह स्वरूप सिंह गुरचरण सिंह चंद सिंह निकाह सिंह आदि गुरु के प्यारे भी मौजूद रहे उन्होंने इस कार्यक्रम की खूब सराहना की तथा केंद्र की संचालिका बीबी भूपेंद्र कोर का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि वह हमेशा ऐसे संचालकों का साथ देते रहेंगे जो समाज को ऊपर उठाने के लिए प्रयासरत हैं कार्यक्रम के अंत में सभी को गुरु साहिबान का लंगर वितरित किया गया। कार्यक्रम के अंत में केंद्र के मुख्य सेवादार जगतार सिंह ने बाहर से आए सदस्यों वह कथावाचक को सिरोपा देकर सम्मानित भी किया।

About Post Author

Leave a Comment

और पढ़ें