ambala today news कोविड-19 की वजह से रक्षाबंधन पर अपने भाईयों के पास नहीं जा सकती, इसलिए वे एक पौधा लगाकर भाई समझकर राखी बांधे व उसकी सुरक्षा का प्रण लें: कंवरपाल

यमुनानगर( अंबाला कवरेज) हरियाणा के शिक्षा एवं वन मन्त्री कंवरपाल ने गांव ममदूबांस कलेसर में आयोजित ‘यमुना उत्सव’ में यमुना के किनारे पौधारोपण किया और कहा कि वर्षा ऋतु में यमुना नदी के किनारे जो जिले लगते हैं, उन जिलों में पवित्र नदी यमुना के किनारे बड़े पैमाने पर पौधारोपण किया जाएगा ताकि हमारा पर्यावरण सुरक्षित रहे। कार्यक्रम में हरियाणा के शिक्षा एवं वन मन्त्री कंवरपाल सहित अन्य गणमान्य व्यक्तियों व उपस्थित अधिकारियों ने शपथ ली कि यमुना हमेशा स्वच्छ रहे, इसके लिए सभी हमेशा पर्यावरण सुरक्षा के कदम उठाएंगे। इसके उपरान्त हरियाणा के शिक्षा एवं वन मन्त्री कंवरपाल ने गांव बहादुरपुर में पंचायती भूमि पर औषधीय फल उद्यान स्थापना कार्यक्रम का शिलान्यास किया और कहा कि इस औषधीय फल उद्यान का क्षेत्रफल 20 एकड़ है, इसमें आम, अमरूद, लीची, आडू, नीम्बू, बहेड़ा, आवला, हरड़, जामुन व अन्य प्रजातियों के औषधीय पौधे लगाए जाएंगे। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे लगे वृक्षों का ध्यान से पालन-पोषण व संरक्षण करें ताकि यह पौधे छाया, फल व पंचायतों को आमदनी दे सकें और हमारा पर्यावरण भी स्वच्छ बन सके, जिससे आने वाली पीढिय़ों का भविष्य सुरक्षित रहे।
हरियाणा के शिक्षा एवं वन मन्त्री कंवरपाल ने महिलाओं को सन्देश दिया कि चूंकि इस बार कोविड-19 की वजह से रक्षाबंधन के अवसर पर अपने भाईयों के पास नहीं जा सकती, इसलिए वे एक पौधा लगाकर भाई समझकर राखी बांधे व उसकी सुरक्षा का प्रण लें। उन्होंने कहा कि इस वर्ष रक्षा बंधन के अवसर पर एक लाख पौधे वन विभाग द्वारा गठित स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं द्वारा लगाए जाएंगे। हरियाणा के शिक्षा एवं वन मन्त्री कंवरपाल ने कहा कि हरियाणा राज्य का वन क्षेत्र कुल भौगोलिक क्षेत्र का 7 प्रतिशत के समान है, जबकि हरियाणा जैसे मैदानी राज्य का वन क्षेत्र कुल क्षेत्र का 20 प्रतिशत होना चाहिए। इस उद्देश्य की प्राप्ति के लिए हमें ज्यादा से ज्यादा पौधारोपण करके हरियाली को बढ़ाना व उसकी सुरक्षा सुनिश्चत करनी हागी, जिससे हमें जनता के सहयोग की अपेक्षा है, क्योंकि सरकार का कोई भी कार्यक्रम एवं अभियान जनता की भागेदारी के बिना सफल नहीं हो सकता। उन्होंने अपने कर कमलों से बच्चों व मीडिया प्रतिनिधियों को पौधे वितरित किए।
कार्यक्रम में हरियाणा की प्रधान मुख्य वन संरक्षक डा. अमरिन्द्र कौर ने कहा कि वन विभाग हरियाणा पौधारोपण से सम्बन्धित लोगों के लिए तत्पर है। वन विभाग ने पौधारोपण के लिए प्रदेश के 1126 गांवों को चिन्हित किया है और इस वर्ष प्रत्येक जिले के 50 गांवों पौधारोपण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि वर्ष 2020-21 में वन विभाग द्वारा प्रदेश में एक करोड़ 25 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने लोगों को इस पौधारोपण के अभियान में बढ़-चढक़र भाग लेने की अपील की ताकि हरियाणा को हरा-भरा व समृद्ध राज्य बनाया जा सके। इस अवसर पर मुख्य वन संरक्षक उत्तरी परिमण्डल जी.रमन, मुख्य वन संरक्षक प्रचार एवं प्रशिक्षण डा. टीपी सिंह, उप-वन संरक्षक सूरजभान, मुख्य प्रचार अधिकारी धर्मबीर, वन राजिक अधिकारी कलेसर कुलदीप सिंह सहित वन विभाग व अन्य विभागों के अधिकारी, भाजपा नेता अशोक कुमार, ताजेवाला के सरपंच यशपाल सिंह, भाजपा मंडल अध्यक्ष कैलाश चंद शर्मा, बलविंदर मुजाफत, विजय सिंगला, खिजराबाद के सरपंच प्रवीण कुमार, बहादरपुर के सरपंच बृजपाल, पूर्व जिला शिक्षा अधिकारी आनंद चौधरी, मुदित बंसल, राहुल घड़ी बंजारा, सतीश चौधरी, महबूब सरपंच नागल पट्टी सहित गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

About Post Author

Leave a Comment

और पढ़ें