ambala today news गर्मी व बरसात के मौसम में बीमारियों से बचने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा बताए गई बातों पर अमल अवश्य करें:मुकुल कुमार

यमुनानगर। गर्मी व बरसात के मौसम में पानी से  प्राय: उल्टी, दस्त, टाईफाईड, हैजा व पीलिया जैसी बीमारियां फैलने की आंशका बनी रहती है और इन बीमारियों को शुरू से ही पनपने से रोकने के लिए सावधानियां बरतना बहुत जरूरी है ताकि लोगों का स्वास्थ्य ठीक रह सके।  यह जानकारी देते हुए उपायुक्त मुकुल कुमार ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग उक्त बीमारियों की रोकथाम के लिए भरपूर कौशिश करता है फिर भी जनता के सहयोग के बिना यह कार्य सम्भव नहीं है। उन्होंने जिला की जनता से अपील की है कि वे इन बीमारियों से बचने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा बताए गई बातों पर अमल अवश्य करें  तथा इन बीमारियों की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग को अपना पूर्ण सहयोग दें। उन्होंने स्पष्टï किया कि नोवल कोरोना वायरस की महामारी के चलते किसी भी प्रकार के बुखार को हल्के में न लें और तुरंत अपनी जांच करवाए व जारी हिदायतों की पालना अवश्य करें। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के चलते सभी फेस मॉस्क अवश्य पहने व 6 फुट की सामाजिक दूरी हमेशा बनाए रखे और हाथो को बार-बार साबुन से धोए एवं सैनिटाईज करे।
उपायुक्त मुकुल कुमार ने जिला के लोगों से अपील की कि वे हमेशा स्वच्छ पानी का सेवन करें, पानी को उबाल कर या क्लोरीन मिला पानी प्रयोग करें, खाना खाने से पहले व बाद में  तथा शौच जाने के बाद हाथों को साबुन से अच्छी तरह धोएं, पीने के पानी के स्रोतों के पास शौच न करें।  सडे, गले, कटे हुए व बासी खाद्य पदार्थो को न तो खरीदें तथा न ही इन्हे खाने में प्रयोग करेंं। सिविल सर्जन डॉ० विजय दहिया ने जिला की जनता से अपील की है कि वह  खाने व पीने की चीजों को हमेशा ढक कर रखें, घरों में पानी की टंकियों की सफाई समय-समय पर अवश्य करें, उल्टी, दस्त लगने पर ओ.आर.एस. घोल व नमक का घोल पर्याप्त मात्रा में लें तथा नजदीकी सरकारी हस्पताल में जाकर अपनी जांच एवं ईलाज करवाएं।  उन्होंने यह भी सलाह दी कि घरों के आसपास पानी इक्_ा न होने दें तथा नालियों को साफ रखें तथा गड्डों को मिट्टी से भर दें। इसके साथ-साथ पानी  की टैंकियां, कूलर इत्यादि सप्ताह में एक बार अवश्य खाली करके सुखा लें या कूलर के पानी में एक चम्मच पैट्रोल या डीजल तेल डालें। घर के आसपास व छत पर खाली बर्तन, टायर, गमलों आदि में बरसात का पानी खड़ा न होने दें। छत की टैंकी अच्छी तरह बंद रखें तथा नलकों का टपकना रोकें। मच्छरों के काटने से बचाव के लिए मच्छरदानी व मच्छर भगाने वाली दवाओं का प्रयोग करें तथा कपड़े ऐसे पहने जिससे सभी अंग ढके  रहें।
बरसात के मौसम में अपने घरों के आसपास यह सुनश्चित कर लें कि कोई ऐसा गड्ढा न हो:मुकुल कुमार 
उपायुक्त मुकुल कुमार ने जिलावासियों का आह्वान किया है कि वे बरसात के मौसम में अपने घरों के आसपास यह सुनश्चित कर लें कि कोई ऐसा गड्ढा न हो जिसमें बरसात का पानी लम्बे समय तक खडा रहता हो क्योंकि खड्डों में पानी खडा होने से इसमें मक्खी मच्छर पनपते है जो अनेकों बीमारियों का कारण बनते है । अत: सभी लोगो का कर्तव्य बनता है कि अपने घरों, दुकानों, वाणिज्यिक केन्द्रों आदि के आस-पास  के खड्डों को भर लें ताकि इनमें वर्षा ऋतु में पानी खडा न होने पाए । उन्होंने लोगों से यह भी अपील की कि वे अपने घरों के आसपास से व किसान अपने खेतों के आसपास से जहरीले गाजर घास, जिसे कांग्रेस घास के नाम से भी जाना जाता है, को उखाड कर पूर्ण रूप से नष्ट कर दें क्योंकि इस जहरीले घास में पारथेनियम नामक पदार्थ होता है जो मानव व पशु, पक्षियों के साथ-साथ फसलों के लिए भी हानिकारक होता है और नालियों के आसपास इस घास के उगने से नालियों के बहते पानी में भी रूकावट होती है। अत: इस जहरीले घास को उखाडने का जिम्मा सभी लोगों का है।  उपायुक्त मुकुल कुमार ने युवाओं से अपील की है कि वे अपने घरों के आसपास के खड्डों को बरसात में भरने व जहरीले कांग्रेस एवं गाजर घास के पौधों को उखाडने के लिए अपने घरों व आसपास के लोगों को जागरूक करें व स्वयं इस कार्य को कर दूसरों के लिए उदाहरण बने।

About Post Author

Leave a Comment

और पढ़ें