ambala today news 2.93 करोड़ से कवर किया जा रहा जगाधरी से निकलने वाला नाला, मेयर ने किया निरीक्षण

1

यमुनानगर। जगाधरी से निकल रहे गंदे पानी के नाले को नगर निगम की ओर से 2.93 करोड़ की लागत से कवर किया जा रहा है। नाले का ऊंचा उठाकर सीसी स्लैब डाली जा रही है। सोमवार को नगर निगम मेयर मदन चौहान ने अधिकारियों के साथ हुडा सेक्टर 17 के होकर निकल रहे इस निर्माण कार्य का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने अधिकारियों व ठेकेदार को कार्य में गुणवत्ता अपनाने व नाले में गिरे मलबे को अच्छी तरह से साफ करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्य में गुणवत्ता से किसी भी प्रकार का कोई समझौता नहीं। उच्च गुणवत्ता के निर्माण कार्य किए जाए। बतां दे कि जगाधरी से गंदे पानी की निकासी के लिए एक बड़ा नाला जगाधरी की विभिन्न कॉलोनियों से होकर हुडा सेक्टर 17 से होते हुए जिमखाना क्लब, प्रोफेसर कॉलोनी, माडल टाउन, टैगोर गार्डन, लाजपत नगर, विजय कॉलोनी, कैंप, पुराना हमीदा से होते हुए आगे जा रहा है। जगाधरी के जय प्रकाश चौक से हुडा सेक्टर 17 के स्वामी विवेकानंद स्कूल तक इस नाले को ऊंचा उठाकर सीसी स्लैब डालकर कवर किया जा रहा है।

ambala today newshttp://ambala today news The drain coming out of Jagadhri being covered by 2.93 crores, Mayor inspected

दो करोड़ 93 लाख की लागत से यह निर्माण कार्य किया जा रहा है। कुछ लोगों ने मेयर को शिकायत की थी कि ठेकेदार द्वारा स्लैब डालने के बाद नाले से पर्याप्त मात्रा में मलबा नहीं निकाला जा रहा है। जिसको लेकर सोमवार को नगर निगम मेयर मदन चौहान, एक्सईएन रवि ओबरॉय, एमई मृणाल जैयसवाल, वार्ड नंबर सात के पार्षद राम आसरे व अन्य अधिकारियों के साथ नाले को कवर करने के कार्य का निरीक्षण करने पहुंचे। यहां उन्होंने हुडा सेक्टर 17 एरिया में नाले के निर्माण कार्य की गहनता से जांच की। मेयर ने खुद नाले पर डाली जा रही स्लैब व नाले की दीवारों की गुणवत्ता जांची। जांच में निर्माण कार्य की गुणवत्ता सही मिली, लेकिन नाले के अंदर कुछ ईंटें व मलबा मिला। जिसे निकालने के लिए ठेकेदार व अधिकारियों को निर्देश दिए गए। उधर,  पार्षद राम आसरे ने बताया कि नाले की जेसीबी से सफाई करवाई गई थी। एक या दो ईंटें रह गई। नाले में पानी का बहाव अधिक होने के कारण इन्हें निकालना मुश्किल था। नगर निगम मेयर मदन चौहान ने अधिकारियों व ठेकेदार को कड़े निर्देश दिए कि वे स्लैब डाले जाने के बाद नाले को अच्छी तरह से साफ करें। नाले की सफाई के बाद ही अगली स्लैब डालने का काम शुरू करें। 

ambala today newshttps://ambalacoverage.com/wp-admin/post.php?post=873&action=edit

About Post Author

Leave a Comment

और पढ़ें