नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के निर्देशों का करें पालन, तभी होगा शहर सुंदर व स्वच्छः कमिश्नर

1

यमुनानगर। एनजीटी (नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल) के निर्देशों का पालन करने को लेकर नगर निगम कमिश्नर धर्मवीर सिंह ने विभिन्न‌ विभागों के अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में कमिश्नर ने सभी अधिकारियों को एनजीटी के निर्देशों का सख्ती से पालन करने व जल शक्ति विभाग की योजनाओं को शहरवासियों तक पहुंचाने के निर्देश दिए। वहीं, उनसे जल संरक्षण एवं पानी को प्रदूषित होने से बचाने के लिए विभागों के अधिकारियों से टिप्स लिए। बैठक में पब्लिक हेल्थ, नहरी ‌विभाग, एचएसआईआईडीसी, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।


कमिश्नर धर्मवीर सिंह ने कहा कि शहर से गंदे पानी की निकासी के लिए बनाए गए नाले व सीवरेज का गंदे पानी सीधे नहर में डाला जाए। गंदे पानी को परवालों, बाड़ी माजरा व अन्य स्थानों पर बनाए गए सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट पर ट्रीट किया जाए। इसके बाद ही पानी नहर में छोड़ा जाए। आज जल संरक्षण को लेकर सरकार द्वारा अनेक कदम उठाए जा रहे है। नहर का पानी साफ व स्वच्छ रहे इसके लिए अलग से जल शक्ति विभाग बनाया गया है। पब्लिक हेल्थ व नगर निगम के अधिकारियों को कमिश्नर धर्मवीर सिंह ने नालों, सीवरेज व सीवर की अच्छी तरह से सफाई करने के निर्देश दिए।

मीटिंग के दौरान अधिकारियों से पूछा गया है कि उनके यहां से सीवरेज व कितने नालों का पानी यमुना में जाता है, और उसको रोकने लिए क्या-क्या काम किया जा रहा है। यमुना नहर में जाते गंदे पानी को रोकना आवश्यक हो गया है। इसी को लेकर उन्होंने अधिकारियों के साथ  शहर के प्रत्येक नाले के गंदे पानी की सप्लाई को लेकर विचार-विमर्श किया। इस बारे में संबंधित अधिकारियों से शहर के गंदे पानी निकासी से संबंधित जानकारी संग्रहित करने के निर्देश दिए गए।

वहीं, उन्होंने गंदा व तेजाब युक्त पानी निकालने वाली फ‌ैक्ट्रियों पर कार्रवाई करने का कहा गया। उन्होंने कहा कि मानसून से निपटने के लिए सभी अधिकारी तैयार रहे। शहर के किसी भी स्थान पर जलभराव की स्थिति न हो इसके लिए हर नाले व सीवरेज की अच्छे से सफाई हो। मौके पर नगर निगम एसई आनंद स्वरूप, पब्लिक हेल्थ एक्सईएन सुमित गर्ग, पारिक गर्ग, मृणाल जैयसवाल आदि अ‌धिकारी मौजूद रहे।

About Post Author

Leave a Comment

और पढ़ें