बरसाती पानी की निकासी को लेकर गृह मंत्री अनिल विज गंभीर, पढिए अधिकारियों को क्या दिए आदेश

गृहमंत्री अनिल विज

अंबाला (अंबाला करवेज)। गृह, शहरी स्थानीय निकाय एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि बरसात का सीजन शुरू हो चुका है और सम्बन्धित अधिकारी सफाई व्यवस्था को दुरूस्त करने को लेकर जो निर्देश दिये गये हैं उसकी अनुपालना के तहत कार्य करते हुए सभी जगहों पर नालों की सफाई व्यवस्था  के साथ-साथ अन्य सफाई व्यवस्था के कार्य को शत प्रतिशत करवाना सुनिश्चित करें ताकि आम जन को जल भराव की स्थिति का सामना न करना पड़े। वे आज अपने निवास स्थान पर कार्यकर्ताओं से चर्चा कर रहे थे। गृहमंत्री ने बताया कि सफाई व्यवस्था को लेकर किसी प्रकार की कोई लापरवाही सहन नहीं की जायेगी, इसलिए उन्होंने इस विषय को लेकर सम्बन्धित अधिकारियों की पूर्व में बैठक लेकर इन व्यवस्थाओं को दुरूस्त करने के निर्देश दिये थे।

अभय चौटाला ने क्यों कहा अपने भाई अजय से की नाम के पीछे से हटाए चौटाला

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने इन निर्देशों की अनुपालना के तहत सम्बन्धित अधिकारी सिंचाई विभाग, नगर परिषद, एनएच वन व रेलवे के अधिकारियों को बेहतर समन्वय के साथ सफाई व्यवस्था के कार्य को कार्य रूप में परिणित करने के लिए पहले से ही निर्देश दे रखे हैं। काफी हद तक सफाई व्यवस्था के कार्य को कर लिया गया है लेकिन कहीं पर भी जल भराव की स्थिति उत्पन्न न हो, इसके लिए उन्हें आवश्यक दिशा-निर्देश देते हुए शेष सफाई संबधी कार्यों को करने के लिए भी कहा गया है। नगर परिषद् के अधिकारियों ने गृहमंत्री को अवगत करवाया कि नालों की सफाई व्यवस्था का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है। एक बार नालों की सफाई कर ली गई है, दूसरे चरण के तहत भी सफाई व्यवस्था का कार्य सुचारू रूप से जारी है। जल भराव की स्थिति उत्पन्न न हो इसके लिए व्यापक व्यवस्था कर रखी है, यदि कहीं पर ऐसी स्थिति उत्पन्न होती है तो उसे भी जल्द दूर करने का काम किया जायेगा।

सिंचाई विभाग के कार्यकारी अभियन्ता प्रवीण कुमार ने बताया कि सिंचाई विभाग से सम्बधिंत ड्रेनों की सफाई व्यवस्था का कार्य कर लिया गया हैं। किसी भी क्षेत्र में यदि बारिश के दौरान जल भराव की समस्या आती हैं, तो जिला में डीजल के 34 पम्प उपलब्ध हैं। इनके अलावा बिजली का एक पम्प अस्थाई तौर पर मच्छौंडा तालाब पर लगाया गया हैं, जिसकी क्षमता 10 क्यूसिक हैं। उन्होंने यह भी बताया कि महेश नगर ड्रेन पर 40-40 क्यूसिक क्षमता के चार पम्प नन्हेड़ा क्षेत्र में लगाए गए हैं, जबकि 50-50 क्यूसिक क्षमता के दो पम्प बब्याल गांव के पास लगाए गए हैं, ताकि बारिश के दिनों में पानी की निकासी सुचारू रूप से हो सकें। इनके अलावा 20-20 क्यूसिक क्षमता के चार पम्प नग्गल में लगाए गए हैं। जिनके माध्यम से बरसाती पानी की निकासी करवाने का काम किया जाता हैं। इससे आसपास के कई गांवों के पानी की निकासी में भी मदद मिलती हैं। गृह मंत्री ने सम्बधिंत अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए है कि सफाई व्यवस्था के कार्य में किसी भी प्रकार की कोई लापरवाही न की जाएगी। जनसेवा हम सबकी सांझी जिम्मेदारी है।

लॉक डाउन में सरकारी आदेशों का उल्लंघन करने वालों पर मामला दर्ज

About Post Author

Leave a Comment

और पढ़ें