ambala today news हरियाणा में सोने के आभूषणों की परख एवं हॉलमार्किंग के लिए नौ जिलों में केन्द्र खोले जा रहे

चण्डीगढ़ (अम्बाला कवरेज) हरियाणा में सोने के आभूषणों की परख एवं हॉलमार्किंग के लिए नौ जिलों में केन्द्र खोले जा रहे हैं। भारतीय मानक ब्यूरो ने इसके लिए अभिरूचि की अभिव्यक्ति आमंत्रित की है। ये केन्द्र खुलने के बाद स्वर्णकारों को हॉलमार्किंग के लिए दूर नहीं जाना पड़ेगा। उल्लेखनीय है कि 15 जनवरी, 2021 से सोने के आभूषणों पर हॉलमार्किंग करना अनिवार्य हो जाएगा। एक सरकारी प्रवक्ता ने आज यहां इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान में भारतीय मानक ब्यूरो देश ने 919 ऐसे केन्द्रों को मान्यता प्रदान की है। अभी देश के 489 जिलों में ये केन्द्र नहीं हैं। इनमें से हरियाणा के नौ जिलों के लिए अभिरूचि की अभिव्यक्ति आमंत्रित की गई है। इनके लिए आवेदन निजी क्षेत्र के लोग, सरकारी संगठन व उपक्रम कर सकते हैं।

ambala today news ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि भूमि की रजिस्ट्री के लिए ई-अपॉइंटमेंट लेने की प्रक्रिया शुरू करने का फैसला किया: मुख्यमंत्री मनोहर लाल

उन्होंने बताया कि केन्द्र सरकार द्वारा इन केन्द्रों की स्थापना के लिए 30 से 75 प्रतिशत तक की वित्तीय सहायता उपलब्ध करवाई जाती है। उन्होंने बताया कि आवेदन 15 सितम्बर, 2020 तक ब्यूरो के कार्यालय प्रमुख हॉलमार्किंग (भारतीय मानक ब्यूरो),कमरा नं0 555, मानकालय, 9 बहादुर शाह जफर मार्ग नई दिल्ली-110002 पते पर पहुंच जाने चाहिएं। इसके अलावा, वैबसाइट : 222.ड्ढद्बह्य.द्दश1.द्बठ्ठ पर भी अवलोकन किया जा सकता है। प्रवक्ता ने बताया कि इन केन्द्रों में मशीनरी व अन्य उपकरण स्थापित करने के लिए वित्तीय सहायता उपलब्ध कराई जाएगी जो ग्रामीण क्षेत्रों, उत्तर पूर्वी राज्यों व विशेष दर्जे वाले राज्यों में प्राइवेट क्षेत्र को कुल कीमत का 50 प्रतिशत तथा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों को 75 प्रतिशत होगी जबकि सामान्य क्षेत्रों में यह क्रमश: 30 व 50 प्रतिशत होगी। उन्होंने बताया कि देशभर में इन 919 केन्द्रों के खुलने के बाद ज्वैलर्स की संख्या पांच लाख तथा हॉलमार्किंग के लिए आभूषणों की संख्या बढक़र 10 करोड़ तक होने की संभावना है।

ambala today news 2020 के प्रथम 7 माह में, 119 किलोग्राम 202 ग्राम मादक पदार्थ सहित 35,500 से अधिक प्रतिबंधित गोलियाँ व कैप्सूल बरामद

About Post Author

Leave a Comment

और पढ़ें