ambala today news मंडियों में फसल की सफाई व लोडिंग का कार्य मशीनों से करने का निर्णय लिया:दुष्यंत चौटाला

चंडीगढ़ (अंबाला कवरेज) हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि सरकार ने किसानों व आढ़तियों के हित को देखते हुए मंडियों में फसल की सफाई व लोडिंग का कार्य मशीनों से करने का निर्णय लिया है। उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, जिनके पास खाद्य, नागरिक अपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग का भी प्रभार है, ने हाल ही में खाद्य, नागरिक एवं उपभोक्ता मामले विभाग व हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड के अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता की। इसमें उन्होंने सीजन 2020-21 के लिए धान एवं बाजरे की खरीद हेतु की गई तैयारियों की समीक्षा की।

ambala news today महाग्राम को ‘महान’ ग्राम बनाने की तैयारी, दुष्यंत चौटाला ने कार्य में तेजी लाने के दिए निर्देश

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कोविड-19 के चलते मंडियों में खरीद सीजन के दौरान आढ़तियों को फसल की सुखाई, तुलाई, बैग-सिलाई व ढुलाई में मजदूरों की कमी झेलनी पड़ी थी। अक्तूबर माह में धान की खरीद के समय तक अगर कोरोना महामारी का प्रकोप रहता है तो इससे मजदूरों की कमी हो सकती है। इसी को देखते हुए राज्य सरकार ने अपनी मंडियों में मशीनों से फसल की सफाई करने, लोड करने, बैग सिलाई करने का निर्णय लिया है ताकि किसानों व आढ़तियों को नुकसान से बचाया जा सके। उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि सरकार की कोशिश है कि फसल के मंडी में पहुंचने से लेकर खरीद होने के बाद उठान होने तक सारी प्रक्रिया दक्षता व त्वरित गति से हो।

ambala today news पढ़िए खबर: दुष्यंत चौटाला राज्य के जिलों में जाकर उद्योगपतियों की एसोसिएशनों से  इस पॉलिसी को लेकर करेंगे मशविरा

उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला को जानकारी दी गई कि उनके निर्देश पर आगामी धान और मक्का खरीद सीजन को देखते हुए राज्य की प्रत्येक मंडी में 2 से लेकर 5 तक ई-लोडर/बैग स्टैकर लगाए जाएंगे। मोटर से चलने वाले ये ई-लोडर/बैग स्टेकर कन्वेयर बेल्ट सिस्टम की मदद से बैग की तेज और कुशल लोडिंग, अनलोडिंग और स्टैकिंग में मदद करेंगे। इन मशीनों की पूरी प्रक्रिया को सुचारू बनाने के लिए बैग की सिलाई करने वाली मशीन और इलेक्ट्रॉनिक तरीके से वजन करने वाली तराजू को भी आपस में जोड़ा जाएगा। ये मशीनें 12 फीट की ऊंचाई तक बैगों के स्टैकिंग बनाने में मदद करेंगी। ये मशीन 2-3 बैग प्रति मिनट की दर से ट्रकों में बैग को लोड/अनलोड कर सकती हैं। इन मशीनों की मदद से मजदूरों पर 75 प्रतिशतता निर्भरता कम हो जाएगी। प्रारंभ में ये ई-लोडर/बैग स्टैकर 81 मंडियों में स्थापित किए जाएंगे और बाद में जरूरत के अनुसार राज्य की सभी मंडियों में लगाए जा सकते हैं।
संदेश

ambala today news पढ़िए खबर: सडकों के अपग्रेडेशन कार्य में प्लास्टिक कचरा का  किया जाएगा उपयोग:दुष्यंत चौटाला

About Post Author

Leave a Comment

और पढ़ें