अभय चौटाला ने अजय चौटाला को क्यों कहा, अपने नाम के आगे से हटाए चौटाला शब्द

अभय चौटाला

अंबाला। अंबाला शहर पंचायत भवन में आयोजित की गई कार्यकर्ता बैठक के बाद अभय सिंह चौटाला ने मीडिया से बात करते हुए जजपा नेता अजय चौटाला के उस बयान पर पलटवार किया, जिसमें अजय चौटाला ने अभय व तंवर की मीटिंग को लेकर टिप्पणी की थी। अजय ने कहा था कि जीरो के साथ जीरो के मिल जाने से नतीजा जीरो ही रहता है। अभय चौटाला ने कहा कि टिप्पणी करने वाले बताए कि वह जीरो से हीरो कैसे बने, अभय ने कहा कि यदि वह अपने नाम के आगे से चौटाला शब्द हटा दें तो पता चल जाएगा।

वहीं उन्होंने कहा कि चुनाव को लेकर मात्र अफवाहें उड़ाई जा रही है, अभी कोई चुनाव नहीं हो सकते। अभय ने कहा कि पंचायती चुनावों को लेकर जो बात कहीं गई, उसके पीछे माफिया काम कर रहा है। उन्होंने की पंचायती चुनाव के दाम पर गांवों में शराब का कारोबार किया जा रहा है। उन्होंने सीधे शब्दों में कहा कि शराब बेचने के चक्कर में जल्द चुनाव करवाने की बात कही गई। अभय चौटाला ने कहा कि देश में 80 दिनों तक लॉक डाउन रहा। व्यापार व व्यापारी बर्बाद हो गया, लेकिन 80 दिन बाद देश के प्रधानमंत्री कहते हैं कि आत्म निर्भर बनो। हमारे पास क ोई दवाई नहीं। जब पता था कि इसकी कोई दवाई नहीं बन सकती तो इसकी दवाई को लेकर झूठे प्रयास क्यों किए गए।

अभय चौटाला ने सरकार पर निशाना साधा और कहा गठबंधन सरकार स्वार्थ का गठबंधन है। उन्होंने कहा प्रदेश में इनेलो का जनाधार बढ़ता जा रहा है और आज प्रदेश के लोग इनेलो से जुड़ रहे हैं। आने वाला समय इनेलो का है। उन्होंने कहा कि तभी अन्य दलों के नेता आज इनेलो में शामिल हो रहे है। इनेलो नेता चौटाला ने कहा कि सरकार ऐसी नीतियां बना रही है कि किसानों की आय कैसे घटायी जाए। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में धान घोटाले हुए, इस साल किसानों के अपनी फसल बचाने के लिए परेशान होना पड़ा। नशा तस्करी के आरोपों में भाजपा नेताओं के बच्चे व परिवार के लोग पकड़े जाने के बाद भी किसी पर क ोई क ार्रवाई नहीं हुई। लॉक बंदी के दौरान लोगों को रोटी नहीं मिली,Ñ लेकिन नशे की तस्करी जमकर हुई। चौटाला ने कहा कि भाजपा सरकार अब मंडियों को बंद करने की बात कर रही है, लेकिन भाजपा नेता यह नहीं जानते कि यदि मंडियों को बंद किया गया तो किसान अपनी फसल कहां पर बेचेगा। उन्होंने किसानों से सवाल किया कि अब एकजुट होने का समय आ गया है और यदि किसान को बचना है तो भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकना होगा। इस मौके पर इनेलो जिलाध्यक्ष शीशपाल जंधेड़ी, प्रदेशाध्यक्ष नफे सिंह राठी, प्रकाश भारती, नरेश सारण व अन्य नेताओं ने कार्र्यकर्ताओं को संबोधित किया।

इस अवसर पर प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य जगमाल सिंह रोलो, स्टेट आमंत्रित सदस्य लाली भानोखेड़ी, हल्का प्रधान अवतार शेरगिल,जसविन्द्र सकरांहो,भूप सिंह गुज्जर, व्यापार प्रकोष्ठ जिला प्रधान ओंकार सिंह, युवा जिलाध्यक्ष लक्की नगौली, जिला प्रधान महासचिव चरनजीत मौहड़ी,महिला जिलाध्यक्ष शशी केसरी,जंगवीर राणा किसान सैल,हनी बलाना,सरताज एडवोकेट, नरेंद्र प्रजापत, नरेंद्र वर्मा,चतर सिंह कश्यप,तेजपाल शर्मा,टीटु घई,कृष्ण राणा, व अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे।

यह कार्यकर्ता रहे मौजूद, ज्वार्इंन की इनेलो
इसी तरह दीपक दीपक आर्य पूर्व शहरी प्रधान के साथ अगम शर्मा, अमन चोपड़ा, प्रवीन शास्त्री ब्राह्मण सभा अध्यक्ष, नवनीत राणा, सूरज शर्मा, ऐकम सिंह, अमन धीमान, सहित जतिन शर्मा, विशाल, एकमजोत, संजीव राणा राहुल, रवि, अकाश मोंगा, हल्का नारायणगढ़ से सचिन, सुनील, रोहित, रमन, रामवीर सिंह, रजाक खान, रशीद खान, अकरम खान इसी तरह गांव फड़ोली से युवा रोहित, शैंकी, जोवन, जंगू राम, बिंदा सैनी, राहुल,सुरजीत,कुलविंदर भी इनैलो में शामिल हुए इसी तरह बहुजन समाज पार्टी से रमेश कुमार, रामस्वरूप, नछत्तर सिंह, ओम प्रकाश, देबो रानी, सुचा राम, मुकेश कुमार, पवन कुमार राजाराम, देवराज, रामचंद्र, देवराज मंडोर, मलकीत सिंह, मोहनलाल, छोटेला, रामचंद, देशराज, जयकुमार, गुलाब सिंह, अमरजीत कौर, परमिंदर सिंह, अवतार सिंह, हुकमचंद, नरेश कुमार, सोमनाथ, रणजीत, राम कुमार, विनोद, अशोक, कश्मीरी, सपतर सिंह, प्रमोद कुमार, रामनाथ, मनोज कुमार, गोल्डी, नरेश कुमार, गुलाब सिंह, रणजीत सिंह, सुरेश कुमार, सोमनाथ इनेलो में शामिल हुए।

About Post Author

Leave a Comment

और पढ़ें
%d bloggers like this: