नमामि गंगे योजना की तर्ज पर यमुना नदी को भी साफ-सुथरा रखा जाएगा – रतन लाल कटारिया

14

यमुनानगर। केन्द्रीय जल शक्ति व सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रतन लाल कटारिया ने स्पष्ट किया है कि नमामि गंगे योजना की तर्ज पर यमुना नदी को भी साफ-सुथरा रखा जाएगा व इसे निर्मल बनाया जाएगा और ऐसे ठोस कदम उठाए जाएगे ताकि यमुना नदी का ई-फ्लो हमेशा बना रहे यानि यह नदी 12 महीने बराबर रूप से बहती रहे। यमुना नदी के ई-फ्लो को हमेशा बरकरार रखने और इसे निर्मल बनाने हेतू ठोस कार्य योजना   बनाने के लिए व इसे शीघ्र पूरा करने के लिए केन्द्रीय जल शक्ति व सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रतन लाल कटारिया ने हथनी कुण्ड बैराज ताजेवाला, 24 एम.एल.डी. सिवरेज ट्रीटमैंट प्लांट परवालो, पश्चिमी यमुना नहर फतेहपुर पुल, बाढी माजरा पुल, 20 एम.एल.डी. सिवरेज ट्रीटमैंट प्लांट व 25 एम.एल.डी. सिवरेज ट्रीटमैंट प्लांट जम्मू कालोनी यमुनानगर का दौरा किया। 

सम्बंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि शहरी आबादी के गंदे पानी और औद्योगिक इकाईयों के गंदे पानी को सिवरेज ट्रीटमैंट प्लांटों व सीईपीटी प्लांटों से पूर्ण रूप से साफ करके ही यमुना नहर व यमुना नदी में डाला जाए ताकि यमुना नदी की निर्मलता हमेशा बरकरार रहे। केन्द्रीय जल शक्ति राज्य मंत्री रतन लाल कटारिया ने उक्त स्थानों का दौरा करते हुए स्पष्टï किया कि यमुना नहर व यमुना नदी के अंदर किसी प्रकार का भी मैला न जाने पाए। उन्होंने निर्देश दिए कि यमुना नहर के अंदर दड़वा पशु डेयरी का गोबर न जाने पाए। इसके साथ-साथ ही किसी कस्बा व शहर की आबादी का गंदे नाले का पानी व औद्योगिक ईकाइयो का पानी सीधे तौर पर यमुना नहर व यमुना नदी में न जाने पाए।

इसके उपरांत केन्द्रीय जल शक्ति व सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रतन लाल कटारिया ने जिला सचिवालय के कांफ्रैंस हाल में यमुना नहर व यमुना नदी को पूर्ण रूप से हमेशा निर्मल रखने के लिए सम्बंधित विभाग के उच्च अधिकारियो की बैठक ली जिसमें हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवर पाल, यमुनानगर के विधायक घनश्याम दास अरोड़ा, नगर निगम यमुनानगर-जगाधरी के मेयर मदन चौहान, नमामि गंगे योजना के कार्यकारी निदेशक डी.पी. माथूरिया, उपायुक्त मुकुल कुमार, नगर निगम के आयुक्त धर्मवीर, जगाधरी के एसडीएम दर्शन कुमार, रादौर की एसडीएम पूजा चांवरिया, नगराधीश भारत भूषण कौशिक,  जनस्वास्थ्य एवं जलापूर्ति विभाग के मुख्य अभियंता  एमएल राणा, कार्यकारी अभियंता पारिख गर्ग व सुमित गर्ग,  सिंचाई विभाग के कार्यकारी अभियंता हरिदेव काम्बोज, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आर.ओ. निर्मल कश्यप, उपमण्डल अधिकारी कुलदीप सिंह, नमामि गंगे के डॉ. प्रवीण कुमार, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी शंकर लाल गोयल,सहायक सूचना एवं जन सम्पर्क अधिकारी स्वर्ण सिंह व अन्य अधिकारीगण सहित बीजेपी नेता राजेश सपरा, संगीता सिंघल व अन्य नेतागण उपस्थित थे।

बैठक में केन्द्रीय जल शक्ति व सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रतन लाल कटारिया ने कहा कि 1980 से लगातार गंगा को साफ करने के प्रयास किए जा रहे है और यह प्रयास पहले भी हुए है। उन्होंने कहा कि नमामि गंगे योजना के तहत 325 से ज्यादा परियोजनाएं ली गई है जिनमें से 125 परियोजनाएं पूरी हो गई है। उन्होंने कहा कि यमुना नदी का उदगम स्थल यमनौत्री है और हरियाणा में इसका नियंत्रण हथनी कुण्ड बैराज से है।

उन्होंने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के कुशल नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा हथनी कुण्ड बैराज से ऊपर एक बड़ा बांध बनाने का प्रस्ताव है। उन्होंने कहा कि पहाड़ी क्षेत्रों में लखवाड़, केसाऊ व रेणुका बांध बनाने के लिए कदम उठाए जा रहे है ताकि यमुना नदी का ई-फ्लो हमेशा बना रहे। उन्होंने कहा कि यमुना नदी में हमेशा पानी नही रहता और यमुनानगर से ही यमुना मैली होनी शुरू हो जाती है जिसे साफ रखने के लिए प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, जन स्वास्थ्य एवं जलापूॢत विभाग,नगर निगम व अन्य विभागों को ठोस कदम उठाने होंगे और सभी को मिल बैठ कर पूरी सोच समझ से ऐसी कार्य योजना बनानी होगी जिससे हमेशा यमुना नदी निर्मल बनी रह सके

बैठक में हरियाणा के शिक्षा मंत्री कवंर पाल, यमुनानगर के विधायक घनश्याम दास अरोड़ा, मेयर मदन चौहान ने यमुना नदी को निर्मल बनाने के बारे में विस्तार से अपने विचार रखे। केन्द्रीय राज्य मंत्री ने कहा कि यमुना नदी को निर्मल बनाने के लिए भविष्य में निरंतर बैठके होगी। सभी विभागों के अधिकारियों की ओर से उपायुक्त मुकुल कुमार ने केन्द्रीय राज्य मंत्री को आश्वासन दिया कि यमुना नहर व यमुना नदी में मैला-कुचैला पानी व कैमिकल  युक्त पानी को जाने से रोकने के लिए ठोस कदम उठाए जाएगे और उन औद्योगिक ईकाइयो के खिलाफ भी कड़े कदम उठाए जाएगे जो पाईपो के जरिये अपनी फैक्ट्रियो का कैमिकल युक्त पानी जमीन में पंहुचा रहे है और जमीन के पानी को गंदा कर रहे है ऐसी औद्योगिक ईकाइयों के चालान सम्बंधित विभाग द्वारा किए जाएगे और कानूनी कार्यवाही भी की जाएगी।

About Post Author

Leave a Comment

और पढ़ें