कोरोना जागरूकता रथ को हरी झण्डी देकर रवाना किया

1

यमुनानगर।  जिलाधीश मुकुल कुमार ने जिला सचिवालय परिसर से प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाए गए कोरोना जागरूकता रथ को हरी झण्डी देकर रवाना किया। यह कोरोना जागरूकता रथ जिला के शहरी क्षेत्रों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में जा-जा कर लोगों को नोवल कोरोना वायरस कोविड-19 की विश्व व्यापी महामारी से बचने के लिए जागरूक करेंगा। इस अवसर पर जगाधरी के एसडीएम दर्शन कुमार, सिविल सर्जन डॉ. विजय दहिया, डिप्टी सिविल सर्जन एवं कोरोना नोडल अधिकारी डॉ. वागीश गुटैन, सर्जन डॉ. विकास, महामारी विशेषज्ञ डॉ. दिनेश शर्मा, हैल्थ इंस्पैक्टर सहदेव, स्वास्थ्य सहायक विशाल बाजीगर व अंकित पोसवाल,मास मीडिया अधिकारी सुदेश काम्बोज, सहायक सूचना एवं जन सम्पर्क अधिकारी स्वर्ण सिंह जंजोटर, पत्रकार नरेश उप्पल सहित अन्य मीडिया प्रतिनिधि तथा गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। 

जिलाधीश मुकुल कुमार ने कोरोना जागरूकता रथ को रवाना करते हुए कहा कि यह जागरूकता रथ जिला के सभी शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों को कवर करेंगा व लोगों को कोरोना बीमारी से बचाव के बारे में विस्तार से जानकारियां देगा। उन्होंने कहा कि कोरोना जागरूकता रथ लोगों को आरोग्य सेतू एप डाऊनलोड करने के बारे में प्रेरित एवं जागरूक करेंगा व आरोग्य सेतू एप के फायदो के बारे में भी बताएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना जागरूकता रथ में साईक्लोजिस्ट भी उपस्थित रहेंगे जो आम जन मानस को कोरोना से बचाव व सावधानियों के बारे में जानकारियां देंगे। उन्होंने कहा कि अब जिला में 16 कोरोना संक्रमित एक्टिव केस है। उन्होंने कहा कि  अब तक जिला में 129 कोरोना केस सामने आए थे जिसमें से 109 जिला यमुनानगर के व 20 बाहरी स्थानों के थे।

उन्होंने स्पष्टï किया कि 111 कोरोना संक्रमित मरीज ठीक होकर अस्पतालों से डिस्चार्ज हो चुके है और रिकवरी रेट 88 प्रतिशत से ज्यादा है। उन्होंने कहा कि जिला में हर रोज 250 से लेकर 300 लोगों के कोरोना सैम्पल लिए जा रहे है। उन्होंने मीडिया द्वारा पूछे गए प्रश्र का उत्तर देते हुए कहा कि जिला में कोरोना महामारी से बचाव के लिए लोगों में पूरी जागरूकता है और सभी ने मास्क पहनना शुरू कर दिया है तथा व्यापारिक दुकाने नियमों के अनुसार खुल रही है।जिलाधीश ने स्पष्ट किया है कि आज 4 जुलाई 2020 को जिला में कोरोना महामारी को कोई नया केस नही आया है।सिविल सर्जन डॉ. विजय दहिया ने कहा कि कोरोना महामारी से बचाव के लिए जागरूकता कार्यक्रम पहले से ही जिला में चल रहे है। परंतु कोरोना जागरूकता रथ आम जनता को जागरूक करने में अपनी विशेष भूमिका निभाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी से हर व्यक्ति जागरूक है। उन्होंने कहा कि सभी को आरोग्य सेतू एप डाऊनलोड करनी चाहिए। कोरोना को लेकर समाज में भय का माहौल न बने इस लिए सभी को एतियात बरतने की जरूरत है। उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना जागरूकता रथ के माध्यम से जागरूकता सामग्री-पम्पलैटस आदि भी आम जनता को वितरित किए जाएगें।

About Post Author

Leave a Comment

और पढ़ें