पीकेआर जैन वाटिका द्वारा छात्रों के लिए टेपिंग हैप्पीनेस कोशंट पर आनलाइन वेबीनार का आयोजन

अंबाला (विनय भोला)। हमारे जीवन का अंतिम उद्देश्य खुश रहना है” इसी उद्देश्य को पूरा करना हेतु कक्षा 9 वीं और 10 वीं के अभिवावकों को प्रसिद्ध मनोचिकित्सक डॉ. शिवम गुप्ता (एक्स ऐम्स) टैपिंग हैप्पीनेस कोशंट विषय पर वेबीनार के दौरान अभिभावकों को निर्देशित किया। उन्होंने बताया कि कैसे अपने बच्चों को मदद करने के लिए, सकारात्मक सोच रखने और खुश रहने के लिए प्रयास किसी भी कीमत पर नहीं छोड़ना चाहिए। किसी समय छात्र तनाव, सहपाठी दबाव, असफलता का डर, उच्च उम्मीदों आदि जैसी विभिन्न चिंताओं से पीड़ित होते हैं। माता-पिता ने अपने बच्चों को बेहतर तरीके से समझने और उन्हें आगे बढ़ाने में मदद करने के लिए हर विषय को छुआ। एक अनुशासित जीवन बच्चों में खुशी और उसकी कमी तनाव उत्पन्न करती है। डॉ. गुप्ता ने बताया कि छात्र अपने शरीर, मन और आत्मा में स्वस्थ रहते हुए अपने निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त कर सकते हैं।
जीवन की सफलता पदों और ग्रेड के बजाय बच्चों द्वारा किए गए सुधार पर निर्भर करती है। डॉ. शिवम गुप्ता ने माता-पिता को निर्देशित किया कि वे अपने बच्चों को नजरंदाज ना करे, बल्कि उनकी समस्याओं पर चर्चा कर उन्हें आगे बढ़ने की प्रेरणा दे। स्वस्थ अध्ययन की आदतों को विकसित करने में मदद करें, विश्राम की तकनीकें अपनाएं। किशोरों की आक्रामकता को बहुत शांति से और उनके लिए रोल मॉडल बनाकर संभालें। प्रधानाचार्या उमा शर्मा ने अपने मूल्यवान सुझावों के लिए डॉ. शिवम गुप्ता का धन्यवाद करते हुए, माता-पिता को बच्चों के साथ संवाद करने, उन्हें सकारत्मक सोच प्रदान करने और आॅनलाइन होने के साथ अपने बच्चों की स्वस्थ निगरानी में अधिक सक्रिय भूमिका निभाने, बच्चों के साथ गुणवत्तापूर्ण समय बिताने के लिए प्रोत्साहित किया।

About Post Author

Leave a Comment

और पढ़ें
%d bloggers like this: