Ambala Today Big News: राफेल अंबाला एयरफोर्स स्टेशन की बढ़ाएगा शान, 29 जुलाई को अंबाला पहुंच जाएगा राफेल

Rafael Ambala will give new identity to Airforce station, ban on flying don

अंबाला (सौरभ कपूर)। लंबे समय से वायुसेना में राफेल का इंतजार कर रहे सैनिकों को इंतजार अब खत्म हो जाएगा। रक्षा मंत्रालय ने साफ कर दिया कि 29 जुलाई को वायुसेना में राफेल शामिल होंगे। मंत्रालय की तरफ से जारी की गई प्रैस विज्ञप्ति में बताया कि 29 जुलाई को वायुसेना में पांच राफेल शामिल किए जाएंगे। राफेल की पहली तैनाती अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर होगी। जिसके बाद यह तो साफ हो गया कि राफेल अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर तैनात होगा। जोकि अंबाला के लिए गर्व की बात है। जिक्र करना जरूरी है कि राफेल का लंबे समय से इंतजार था और अब इंतजार खत्म हो गया है।

Haryana Big News: हरियाणा में गांव स्तर पर बनाई जाएगी मिनी सुपर मार्केट, युवाओं को घर में सरकार देगी रोजगार, एक हजार प्ले वे स्कूल खोलने की भी योजना

वहीं दूसरी तरफ रक्षा मंत्रालय की तरफ से यह साफ कर दिया गया है कि राफेल अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर 27-28 जुलाई को अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर पहुंच जाएगी। इसके बाद आरंभिक समारोह के माध्यम से 29 जुलाई को वायुसेना में शामिल करने की औपचारिकता पूरी की जाएगी। वहीं मंत्रालय ने साफ कर दिया कि अभी किसी मीडिया कवरेज नहीं ली जाएगी। वहीं दूसरी तरफ मंत्रालय ने साफ कर दिया कि अगस्त में जब दूसरी खेप आएगी, तब इसकी मीडिया कवरेज ली जाएगी।

ambala today news फर्जी वीजा थमाकर 17 लाख रुपए की ठगी, युवक को चेन्नई एयरपोर्ट पर पकड़ा

वहीं दूसरी तरफ सरकार के ‘मेक इन इंडिया’ पहल को बढ़ावा देने के उद्देश्य से रक्षा मंत्रालय की खरीद इकाई ने 557 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से टी टैंक-90 एस/एसके के लिए बारूदी सुरंग हटाने वाले 1,512 उपकरणों की खरीद के लिए आज भारत अर्थ मूवर्स लिमिटेड (बीईएमएल) के साथ एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किए। इस खरीद को रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह की ओर से मंजूरी दी गई है। अनुबंध की खरीद और निर्माण शर्तों के तहत इन उपकरणों में इस्तेमाल होने वाले 50 प्रतिशत कलपुर्जे स्वदेशी होने चाहिए।

बारूदी सुरंग हटाने वाले इन उपकरणों को सेना के बख्तरबंद कोर के टी-90 टैंकों में फिट किया जाएगा जिससे ऐसे टैंको को बारूदी सुरंग बिछे क्षेत्रों में आसानी से आने जाने की सुविधा होगी। इससे टैंको के बेड़ों की गतिशीलता कई गुना बढ़ जाएगी और उनका दुश्मन के इलाकों में बिना नुकसान के काफी अदंर तक पहुंचना आसान हो जाएगा। बारूदी सुरंग हटाने वाले इन 1,512 उपकरणों को हासिल करने का काम 2027 तक पूरा करने की योजना है। इससे सेना की युद्ध क्षमता में और इजाफा होगा।

Haryana School Reopen News: सरकार ने अभिभावकों पर छोड़ा फैसला, स्कूल खोलने के लिए मांगी राय, पढ़िए पूरा मामला और दे अपनी राय

About Post Author

Leave a Comment

और पढ़ें