टिकटॉक की जगह आया देसी कलाकार, हिसार के तीन युवाओं ने इस ऐप की शुरूआत

desi kalakar app

हिसार। हिसार के तीन युवाओं ने नई पहल करते हुए टिकटॉक की टक्कर की देसी कलाकार ऐप तैयार कर ली है। अब कोई भी वीड़ियो बना कर अपना टैलेंट इस ऐप के जरिए दिखा सकता है। इसकी खासियत ये है कि ये पूरी तरह से शुद्ध देसी भारतीय ऐप है और इस ऐप का जन्म हरियाणा के हिसार जिले में हुआ है। सबसे बड़ी बात बाजार में उतरते ही इस ऐप को लोगों का खूब प्यार मिल रहा है। प्ले स्टॉर पर आते ही इस ऐप के 50 हजार लोगों ने इसे डाउनलॉड किया है और इसे अब तक 4.8 रैंटिग भी मिल चुकी है। हिसार के तीन युवा किशन, रोहित और अशुल गर्ग ने इस ऐप ने मिलकर बनाया है। इन युवाओं के बारे में आपको बता दें कि किशन और रोहित साधारण परिवार से है जिनके पिता पेशे से दर्जी हैं और वहीं अंशुल गर्ग नाम की युवती एक व्यापारी की बेटी है।

तीनों ने देसी कलाकार नाम से अपनी खुद की इंडियन एंड्रोएड ऐप बना डाली रातों रात मशहूर हो गए। आइए इन तीनों से ही सुनते है इनकी सफलता की कहानी। देसी कलाकार के फीचर लगभग लगभग टिकटॉक की तरह ही है। टिकटॉक की तरह ही आप इसमें वीड़ियों बना सकते है और अपना डाटा सेव कर सकते है। कहा जा रहा है भविष्य में इस ऐप के माध्यम से इसके यूजर्स को टिकटॉक और यूट्यूब की तर्ज पर कमाई का साधन भी मिल सकेगा। वहीं हिसार के गुरु जम्भेश्वर विश्वविदयालय के कुलपति टकेंश्वर कुमार ने अपने छात्रों की जमकर तारीफ करते हुए कहा छात्रों देशी कलाकार ऐप बनाकर लोगों को नया प्लॉफॉर्म दिया है और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संदेश को लोकल फॉर वोकल को कामयाब किया है।

About Post Author

Leave a Comment

और पढ़ें
%d bloggers like this: