यमुनानगर में अवैध खनन को लेकर डीसी का बड़ा फैसला, पढ़िए खनन माफिया पर कैसे कसा जाएगा शिकंजा

https://ambalacoverage.com/main-story/unicipal-corporation-ambala-city-challans-20-people-for-not-wearing-masks/

यमुनानगर! उपायुक्त मुकुल कुमार ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे जिला की सीमा में अवैध खनन को रोकने के लिए सख्त कदम उठाएं और ऐसे मामले में शामिल लोगों व वाहनों के विरूद्घ आवश्यक कार्यवाही अमल में लाएं। उन्होंने ओवर लोड वाहनों के चालान करने के भी निर्देश दिए और कहा कि पर्यावरण संरक्षण के लिए नैशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल द्वारा जारी किए गए निर्देशों की पालना के लिए भी सभी सम्बन्धित विभाग आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करें। उपायुक्त आज लघु सचिवालय स्थित अपने कार्यालय में अवैध खनन और प्रदूषण नियंत्रण से जुड़े विभिन्न पहलूओं पर आयोजित जिला अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

Ambala News: बैल गाड़ी क्यों सवार होकर अंबाला डीसी आफिस पहुंचे कांग्रेस, सरकार के खिलाफ की जमकर नारेबाजी

उन्होंने कहा कि जिन पंचायती जमीनों पर अवैध खनन की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए पंचायत विभाग, खनन विभाग, पुलिस और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारी उचित कार्यवाही करें। उन्होंने यह निर्देश भी दिए कि यह भी सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि कोई भी स्टोन क्रैशर बिना लाईसैंस के न चले और जिन स्थानों पर पत्थर, बजरी व माईनिंग से जुड़े अन्य सामान का भण्डारण किया गया है उसका भी निरीक्षण करें। बैठक में उपस्थित जिला खनन अधिकारी नीरज कुमार ने बताया कि अप्रैल मास से लेकर अब तक अवैध खनन को रोकने के लिए इस कार्य में लगे 554 वाहनों को जब्त किया गया है और 6 करोड़ 46 लाख 98 हजार 680 रूपये की राशि जुर्माना के रूप में वसूल की गई है। उन्होंने बताया कि नैशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के आदेशों की अनुपालना में 6 करोड़ 21 लाख 71 हजार 680 रूपये का जुर्माना वसूलने के उपरांत 203 वाहनों को छोड़ा गया है। उपायुक्त ने नगर निगम और जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को यह निर्देश भी दिए कि वे सीवरेज के पानी को आवश्यक शुद्घिकरण के उपरांत ही नदियों में डालें।

उन्होंने प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिला में स्थित ऐसी औद्योगिक ईकाईयों जिनसे प्रदूषित जल निकलता है, को भी जल शुद्घिकरण यंत्र स्थापित करने के आदेशों की पालना सुनिश्चित करने के निर्देश दें। उन्होंने कहा कि अधिकारी स्वयं ऐसी ईकाईयों का दौरा करके यथा स्थिति का जायजा लें और यदि अभी तक कहीं जल शुद्घिकरण यंत्र नहीं लगा है वहां इसे तुंरत लगवाएं। उन्होंने बैठक में जल भण्डारण, औद्योगिक ईकाईयों की जीयो मैपिंग सहित अन्य बिन्दूओं पर भी आवश्यक निर्देश दिए। बैठक में पुलिस अधीक्षक कमलदीप गोयल, जगाधरी के एसडीएम दर्शन कुमार, रादौर की एसडीएम पूजा चावरियां, जिला राजस्व अधिकारी अभिषेक, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी दर्शन लाल गोयल, जिला खनन अधिकारी नीरज कुमार सहित अन्य सम्बन्धित विभागों के अधिकारी भी उपस्थित थे। 

Ambala News: नगर निगम अंबाला शहर की टीम मास्क न पहनने के चलते किए 20 लोगों के चालान

About Post Author

Leave a Comment

और पढ़ें