Ambala Coverage : बोले थे अधिकारी शहर में नहरी पानी लाना नामुमकिन, प्लानिंग बनाई और नामुमकिन को मुमकिन कर दिखाया: विनोद शर्मा

अंबाला @ निखिल सोबती। पूर्व केंद्रीय मंत्री विनोद शर्मा ने कहा कि 10 साल तक वह अंबाला शहर से विधायक रहे और लोगों ने जो भी समस्या रखती प्राथमिकता के आधार पर हर किया। उन्होंने कहा कि जब वह पहली बार शहर से विधायक बनने तो पानी की किल्लत थी, लोगों को रात रात भर जागना पड़ता था। अधिकारियों के साथ बैठक की और नहरी पानी को अंबाला शहर में जाने की प्लानिंग बनाई, लेकिन अधिकारियों ने नामुमकिन बोलते हुए योजना को ठंडे बस्ते में जाने का प्रयास किया, लेकिन प्लानिंग व सही नियत से काम किया और नामुमकिन को मुमकिन कर दिखाया। ये ही कारण है कि आज अंबाला शहर में पानी की किल्लत नहीं और बिना किसी मोटर के पानी टैंकियों में भर जाता है।

ambala coverage आईएमटी लगने के बाद ही हजारों युवाओं को मिलेगा रोजगार: विनोद शर्मा

पूर्व केंद्रीय मंत्री विनोद शर्मा अपने निर्धारित कार्यक्रम के तहत अंबाला शहर परशुराम नगर, कौला, बड़ी घेल, विश्वकर्मा धर्मशाला कंचघर व काली मंदिर धर्मशाला में आयोजित कार्यक्रम में आए लोगों को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर अंबाला की मेयर शक्तिरानी शर्मा ने कई प्रोग्रामों में उनके साथ रही और 11वीं व 12वीं के बच्चों को वितरित किए जाने वाले साइकिल वितरण कार्यक्रम भागीदारी करते हुए बच्चों को प्रोत्साहित किया। साथ ही विनोद शर्मा ने कहा कि 10 साल तक वह विधायक रहे हैं और विधायक रहते हुए अंबाला के युवाओं को सरकारी नौकरी में हक दिलाने में कोई कमी नहीं छोड़ी। शायद ही शहर का कोई ऐसा वार्ड होगा, जहां पर युवाओं को उनके समय में सरकारी नौकरी न मिली हो, लेकिन पिछले 10 सालों में अंबाला के युवाओं की अनदेखी की गई है।

ambala coverage पूर्व केंद्रीय मंत्र ने पहरावर की जमीन की पट्टा राशि का किया स्थाई समाधान, राज्यसभा सांसद कार्तिकेय शर्मा ने निभाया अपना वादा

पूर्व केंद्रीय मंत्री विनोद शर्मा ने कहा कि वर्ष 2009 में अंबाला शहर में आईएमटी स्थापित करवाया गया। अंबाला व रोहतक में एक साथ आईएमटी बनाने की घोषणा की गई। उन्होंने कहा कि कुछ कांग्रेसी नेताओं ने अपनी राजनीति चमकाने के लिए अंबाला में आईएमटी का विरोध किया, ऐसा नहीं कि विरोध रोहतक में बनने वाली आईएमटी का नहीं, लेकिन फिर भी उस समय दिल्ली से अंबाला में बनने वाले आईएमटी को कैंसिल करने के आदेश आ गए। कुछ कांग्रेसी नेताओं ने अपनी राजनीति चमकाने के लिए अंबाला के युवाओं से उनका हक छीन लिया। साथ ही उन्होंने कहा कि रोहतक में अंबाला से ज्यादा विरोध हुआ, लेकिन फिर भी आईएमटी बना दी गई। वर्तमान में वहां पर 50 हजार युवाओं को रोजगार मिला हुआ है और यदि अंबाला में आईएमटी लगती तो अभी तक यहां पर भी अंबाला के करीब 20 हजार युवाओं को रोजगार मिल चुका होता। इस अवसर पर पार्षद राणोदेवी, पार्षद सरदुल सिंह, पार्षद राकेश सिंगला, पार्षद राजेंद्र कौर, मदन मोहन घेल, मधु शर्मा, बृजलाल सिंगला, पूर्व सरपंच राकेश शर्मा, जसबीर सिंह एडवोकेट, विशाल राणा, राजकुमार गुप्ता, वीके शर्मा, सोमनाथ भाटिया, विनीत भाई, डिम्पल मलिक, मनीष वर्मा, दिनेश गौड, कुलदीप सिंह डंगडेहरी, जसबीर जस्सी, कमल सिंगला, राजकुमार गुप्ता, तजेपाल मंगा, मिनाक्षी राणा, रविंद्र सौड़ा, वरदान शर्मा, रजत शर्मा, मंथन शर्मा, राजन पाहवा, अंकित कुमार, प्रिंस शर्मा, राजू कौला, विनय बक्शी, पंकज भारद्वाज, हर्षित शर्मा, रमन शर्मा सहित कई गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

युवाओं को रोजगार दिलाना विनोद शर्मा की प्राथमिकता: शक्तिरानी शर्मा

अंबाला की मेयर शक्तिरानी शर्मा ने कहा कि पूर्व केंद्रीय विनोद शर्मा ने अंबाला शहर की जनता को हमेशा अपना परिवार माना है और ये ही कारण है कि जब आईएमटी कैंसिल किया गया तो उन्होंने कांग्रेस को छोड़ दिया। शक्तिरानी ने कहा कि यदि विधायक बनाना विनोद शर्मा को उद्देश्य होता तो उस समय में भी वह कांग्रेस में रहकर विधायक बन सकते थे, लेकिन उनकी प्राथमिकता युवाओं को रोजगार दिलाने की है। ये ही कारण है कि वह लगातार आईएमटी लगाने की बात कर रहे हैं और बकायदा 2009 में लगवा भी दी थी। शक्तिरानी शर्मा अंबाला शहर के सोहन लाल स्कूल के समीप आयोजित किए गए कार्यक्रम में आए लोगों को संबोधित कर रही थी। उन्होंने कहा कि हर घर रोजगार दिलाने के लिए आईएमटी जरूरी है और विनोद शर्मा आईएमटी अंबाला में लगवाकर रहेंगे।

Ambala Today News: भगवान परशुराम की चौक चौराहों पर लगने वाली प्रतिमा को लेकर विनोद शर्मा ने कहीं बड़ी बात, पढ़िए आखिर तालियों से क्यों गूंज उठा हाल

About Post Author

Leave a Comment

और पढ़ें